Hanuman Dhara, Chitrakoot

You are here Home  > Travel & Transport  > Temple >  Hanuman Dhara, Chitrakoot

चित्रकूट का अध्यात्मिक रुप से बड़ा ही महत्व है। कहते हैं चित्रकूट में ही भगवान श्रीराम ने तुलसीदास जी को दर्शन दिए थे। और यह संभव हुआ था हनुमान जी की कृपा से। कहते हैं चित्रकूट में आज भी हनुमान जी वास करते हैं जहां भक्तों को दैहिक और भौतिक ताप से मुक्ति मिलती है। कारण यह है कि यहीं पर भगवान राम की कृपा से हनुमान जी को उस ताप से मुक्ति मिली थी जो लंका दहन के बाद हनुमान जी को कष्ट दे रहा था। इस विषय में एक रोचक कथा है कि, हनुमान जी ने प्रभु राम से कहा, लंका जलाने के के बाद शरीर में तीव्र अग्नि बहुत कष्ट दे रही है। तब श्रीराम ने मुस्कराते हुए कहा कि-चिंता मत करो। चित्रकूट पर्वत पर जाओ। वहां अमृत तुल्य शीतल जलधारा बहती है। उसी से कष्ट दूर होगा।   download hqdefault Hanuman-Dhara-Temple


Our address

Address:
Chitrakoot
GPS:
25.20943496562445, 80.8941192459315

Leave a review


Show Comments

share your experience with us!